111 TEBBET

  • 111:1

    टूट गए अबू लहब के दोनों हाथ और वह स्वयं भी विनष्ट हो गया!

  • 111:2

    न उसका माल उसके काम आया और न वह कुछ जो उसने कमाया

  • 111:3

    वह शीघ्र ही प्रज्वलित भड़कती आग में पड़ेगा,

  • 111:4

    और उसकी स्त्री भी ईधन लादनेवाली,

  • 111:5

    उसकी गरदन में खजूर के रेसों की बटी हुई रस्सी पड़ी है

Paylaş
Tweet'le