94 İNŞİRAH

  • 94:1

    क्या ऐसा नहीं कि हमने तुम्हारा सीना तुम्हारे लिए खोल दिया?

  • 94:2

    और तुमपर से तुम्हारा बोझ उतार दिया,

  • 94:3

    जो तुम्हारी कमर तोड़े डाल रहा था?

  • 94:4

    और तुम्हारे लिए तुम्हारे ज़िक्र को ऊँचा कर दिया?

  • 94:5

    अतः निस्संदेह कठिनाई के साथ आसानी भी है

  • 94:6

    निस्संदेह कठिनाई के साथ आसानी भी है

  • 94:7

    अतः जब निवृत हो तो परिश्रम में लग जाओ,

  • 94:8

    और अपने रब से लौ लगाओ

Paylaş
Tweet'le